मुख्य उद्येश्य :

इस योजना का मुख्य उद्येश्य प्रदेश की 1.5 लाख महिलाओं को प्रशिक्षण प्रदान कर हर गाँव को डिजिटल रूप से साक्षर बनाना है|

  • अधिक से अधिक लोगों को राज्य की विभिन्न योजनाओं से जोड़ कर उनकी डिजिटल माध्यम से प्रदायगी को सुनिश्चित करना |
  • Connecting maximum State citizens and ensuring that at least 1 person from every rural family is made digitally literate
  • राज्यभर में लगभग 1.5 लाख स्वयंसेवक महिलाओं को ई-सखियों के रूप में इस अभियान से जोड़ कर प्रत्येक ग्रामीण परिवार से कम से कम एक व्यक्ति को डिजिटली साक्षर बनाना|
  • 1.5 लाख स्वयंसेवकों को ई-सखी के रूप में नामांकित कर उनके संबंधित गांव / शहरी क्षेत्रों से कम से कम 100 लोगों को प्रशिक्षित करना |
  • यह डिजिटल साक्षरता अभियान मई 2018 से शुरू होगा और दिसंबर 2018 तक जारी रहेगा, जिसके तहत 1.5 करोड़ लोगों को डिजिटली साक्षर बनाया जाएगा।
डाउनलोड
Awesome Image


Awesome Image

ई सखी के दायित्व:

ई-सखी योजना राज्य में महिला सशक्तिकरण और डिजिटल साक्षरता को एक नई पहचान देगी |

  • डिजिटल साक्षरता प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद, रुचि रखने वाली ई-सखी अपने संबंधित गांव/शहरी क्षेत्रों से कम से कम 100 लोगों को प्रशिक्षित करेगी।
  • ई-सखी द्वारा लोगों को प्रशिक्षण के तहत राज्य सरकार के महत्वपूर्ण सेवाओं/आई-टी एप्लीकेशंस को इस्तेमाल करना सिखाया जायेगा। इसके साथ-साथ आने वाले दिनों में प्रशिक्षित व्यक्ति द्वारा मोबाईल/ई-मित्र कियोस्क के माध्यम से सेवा लेना सुनिश्चित किया जायेगा।
  • ई-सखी द्वारा समय-समय पर सरकार द्वारा आईटी के क्षेत्र में की जाने वाली पहल तथा अन्य नवाचारों में भी लोगों को प्रतिभागिता के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • ई-सखी जिन प्रशिक्षणार्थियों को अपने साथ जोड़ेगी, उन्हें प्रतिदिन आई टी क्षेत्र की कम से कम एक खबर उनके मोबाइल पर भेजेगी।

ई- सखी योजना के लाभ:

इस योजना के तहत नामांकन करके, ई-सखियों को राज्यव्यापी मान्यता के साथ राजस्थान सरकार के तहत मुफ्त प्रशिक्षण का लाभ मिलेगा। प्रत्येक ई-सखी को प्रशिक्षित होने का प्रमाण पत्र दिया जाएगा। उसे सार्वजनिक कार्यक्रमों में सम्मानित भी किया जायेगा| सर्वोत्तम ई-सखी चुने जाने पर माननीय मुख्यमंत्री महोदया के साथ ‘‘कॉफ़ी विद CM’’ जैसे कार्यक्रमों में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा।

Awesome Image


Awesome Image

ई-सखी के आवेदन हेतु पात्रता

  • आयु – 18 से 35 वर्ष
  • शैक्षणिक योग्यता –12वीं पास
  • आवेदक के पास भामाशाह आईडी हो
  • आवेदक के पास स्मार्टफ़ोन हो
  • ई-मेल आईडी हो
  • सामाजिक कार्यों में रुचि हो और समाज के लिए कुछ करने का जज़्बा हो


प्रशिक्षण हेतु पाठ्यक्रम

  • भामाशाह योजना
  • भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना
  • सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना
  • ई-मित्र योजना
  • ई-पी.डी.एस. योजना
  • राजस्थान सम्पर्क

प्रशिक्षण अवधि व स्थान

  • ई-सखी की प्रशिक्षण अवधि 14 घंटे/7 दिन (2 घंटे प्रति दिन) होगी|
  • प्रशिक्षण RKCL (राजस्थान नॉलेज कारपोरेशन लिमिटेड) के नज़दीकी ज्ञान केन्द्रों पर दिया जाएगा |
Awesome Image